क्रीड् धातु के रूप | Krid Dhatu Roop in Sanskrit

Krid Dhatu Roop in Sanskrit- क्रीड् धातु का अर्थ है ‘खेलना, to play’। यह भ्वादिगण तथा परस्मैपदी धातु है। सभी भ्वादिगण धातु के धातु रूप इसी प्रकार बनते है जैसे- भू-भव्, अर्च्, अस्, गम्, गुह्, घ्रा, जि, तप्, दा, दृश्, धाव्, नी, पा, पच्, पत्, भज्, यज्, लिख्, वद्…

Read more

भानु शब्द के रूप | Bhanu Shabd Roop in Sanskrit

Bhanu Shabd Roop in Sanskrit – भानु शब्द उकारान्त पुल्लिंग संज्ञा शब्द है। सभी उकारान्त पुल्लिंग संज्ञाओ के रूप इसी प्रकार बनते हैं, जैसे- अणु, इक्षु, इन्दु, ऋतु, गुरु, जन्तु, तन्तु, तरु, दयालु, धातु, प्रभु, पशु, बन्धु, भानु, बिन्दु, मृत्यु, रिपु, लघु…

Read more

शाकम्भरी माता की आरती | Shakambhari Mata Ki Aarti

श्री शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो। ऐसी अद्भुत रूप हृदय धर लीजो॥ शताक्षी दयालु की आरती कीजो॥ शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो…

Read more

चिंतपूर्णी माता की आरती | Chintpurni Mata Ki Aarti

चिंतपूर्णी चिंता दूर करनी, जग को तारो भोली माँ, जन को तारो भोली माँ, काली दा पुत्र पवन दा घोड़ा। भोली माँ…

Read more
error: Content is protected !!